आधार कार्ड के लिए आरटीआई कैसे फाइल करें? आरटीआई फाइल कौन कर सकता है और मानदंड क्या-क्या है – संपूर्ण जानकारी

हेलो दोस्तों आज हम बात करेंगे आधार कार्ड के लिए आरटीआई कैसे फाइल करें (File RTI for Aadhaar) और आईटीआई फाइल कौन कर सकता है और हम आपको यह भी बताएंगे कि आरटीआई के खिलाफ जानकारी कौन देगा। जैसे की हम सबको मालूम है कि आधार कार्ड यूआइडीएआइ अधिनियम के अनुसार जारी किए जाते हैं तो हम आपको यह भी बताएंगे कि (UIDAI) यूआईडीएआई प्रैक्टिकल मानदंड क्या-क्या है। इस लेख में हमने आपको आधार संबंधित सेवाओं के लिए आरटीआई कैसे दाखिल करें के विषय में बताया है कृपया करके इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें और अगर यह लेख आप के काम आए तो उसको शेयर जरूर करें।

अगर आपको आधार कार्ड के बारे में संपूर्ण जानकारी चाहिए तो यहां क्लिक करें

भारत सरकार ने भारत वासियों के लिए सार्वजनिक प्राधिकरण के नियंत्रण और सूचना को सुरक्षित करने के लिए “ सूचना का अधिकार अधिनियम 2005” (The Right to Information Act 2005) इस अधिनियम को चालू किया। इस अधिनियम के अनुसार भारतवासी सार्वजनिक प्राधिकरण के पास या उसके नियंत्रण में मौजूद जानकारी तक पहुंच पाएंगे और इस जानकारी को प्राप्त करवाना भी बहुत आसान होगा। इस अधिनियम की वजह से कोई भी हिंदुस्तान का निवासी सरकारी डाक्यूमेंट्स, रिकॉर्ड्स और इलेक्ट्रॉनिक्स रूप में संगठित जानकारी प्राप्त करने का अधिकार भी शामिल है।

File RTI for Aadhaar (आधार कार्ड के लिए आरटीआई कैसे फाइल करें)

आधार कार्ड संबंधित सेवाओं के लिए आरटीआई कैसे दाखिल करें – ( संपूर्ण जानकारी)

अगर आप आधार कार्ड के लिए कोई भी आरटीआई दाखिल करना चाहते हैं और आधार से संबंधित सेवाओं के लिए आरटीआई दाखिल करने की कोशिश कर रहे हैं। तो आपको उसके लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा। हमने आसान भाषा में आपको समझाया है कि आप किस तरह से आरटीआई दाखिल कर पाएंगे अपने आधार कार्ड के लिए।

1. सबसे पहले आपको आरटीआई दाखिल करने के लिए आरटीआई ऑनलाइन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा वेबसाइट पर जाने के लिए यहां पर क्लिक करें
2. अब आपके सामने आरटीआई ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा
3. अब आपको यहां पर अपना यूजर नेम और पासवर्ड डालना होगा। यह यूजर नेम और पासवर्ड आपको रजिस्ट्रेशन करते वक्त मिला होगा। अगर आपके पास यूजर नेम और पासवर्ड नहीं है तो आपको रजिस्ट्रेशन कराना होगा।
4. अपना यूजर नेम और पासवर्ड डालने के बाद कैप्चा कोड भर दे
5. सारी इनफार्मेशन देने के बाद सबमिट पर क्लिक करें
6. अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा
7. यहां पर सबमिट रिक्वेस्ट के बटन पर क्लिक करें
8. यहां पर आपको पब्लिक अथॉरिटी डिटेल भरनी जरूरी है, अब आपको आरटीआई फीस का ट्रांजैक्शन भी करना होगा जो कि ₹10 है।
9. यह सब करने के बाद सबमिट पर क्लिक करें
10. अब आपके सामने लेनदेन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी
11. लेन-देन करने के लिए भुगतान मोड दर्ज करा दें
12. सफल भुगतान होने के बाद, आपको सफल आरटीआई ऑनलाइन अनुरोध दायर करने के लिए अपने पंजीकृत ईमेल आईडी पर एक अधिसूचना प्राप्त होगी।
13. यह ईमेल वही होगी जो आपने रजिस्ट्रेशन करते वक्त दी होगी।
14. इस तरह से आप आरटीआई दाखिल कर पाएंगे आधार कार्ड से संबंधित।

आरटीआई के खिलाफ जानकारी कौन देगा?

अगर आप भारत के निवासी हैं और भारतवर्ष में रहते हैं तो हम सबको मालूम है कि हिंदुस्तान की जनसंख्या बहुत ही ज्यादा है यह विश्व में दूसरे नंबर की आबादी है हमसे ज्यादा सिर्फ चाइना की आबादी को माना जाता है। बहुत ज्यादा जनसंख्या होने की वजह से लोगों पर नियंत्रण पाना और उनकी जानकारियों को सही तरीके से और ध्यान पूर्वक रख पाना काफी कठिन है जिस वजह से कई तरह की गलतियां सरकारी दस्तावेजों में भी हो जाती हैं। जिसके लिए सरकार की भी जवाबदेही होती है।

भारत के नागरिकों के बीच पारदर्शिता और जवाबदेही को बढ़ावा देने के लिए सूचना बहुत महत्वपूर्ण तरीके से प्रभावित होती है। जितनी भी पब्लिक अथॉरिटी है उनको बहुत ही ध्यान पूर्वक सेंट्रल असिस्टेंट पब्लिक इनफॉरमेशन ऑफीसर (CAPIO) के साथ नामित किया जाता है जो हिंदुस्तान की जनता से सूचना के लिए अनुरोध प्राप्त करता है।

अगर हम बात करें केंद्रीय लोक सूचना अधिकारी की तो सभी प्रशासनिक कार्यालयों में जनता के लिए आवश्यक सभी सूचनाओं की व्यवस्था करने के लिए रखा जाता है। अगर किसी भारतवासी को कोई इंफॉर्मेशन या जानकारी चाहिए होती है तो वह अपनी एप्लीकेशन लगा देता है इस एप्लीकेशन को सेटल करने के लिए या फिर रिजेक्ट करने के लिए सिर्फ 30 दिन होते हैं इन 30 दिनों में सूचना अधिकारी को इस एप्लीकेशन का काम करना अनिवार्य है।

आधार कार्ड से संबंधित प्रश्न उत्तर के लिए आरटीआई कौन दाखिल कर सकता है?

अगर आप हिंदुस्तान में रहते हैं और हिंदुस्तान के निवासी हैं तो आप आरटीआई दाखिल करने के लिए सक्षम है। आरटीआई दाखिल करने के लिए बस आपको भारत का निवासी होना जरूरी है। अगर आपको आरटीआई दाखिल करनी है तो उसके लिए आपको जिस क्षेत्र में आवेदन करना है उस क्षेत्र में अंग्रेजी या फिर हिंदी भाषा में लिखित रूप में या किसी अन्य तरीके से आरटीआई दाखिल कर सकते हैं। आरटीआई दाखिल करने के लिए आप इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं। इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से आवेदन करने के लिए आपसे निर्धारित शुल्क लिया जाएगा।

यूआईडीएआई डिस्क्लोजर नॉर्म्स क्या है?

अगर हम बात करें आरटीआई अधिनियम, धारा 8 (आई) 2005 के अनुसार जो बायोमैट्रिक डाटा और जनसंख्या की गोपनीय प्रकृति को देखते हुए केवल वह निवासी जिससे डाटा संबंधित है, सिर्फ वही इंसान ही अपना डाटा मांग सकता है। अगर आप किसी और दूसरे इंसान का डाटा मांगना चाहेंगे या देखने की कोशिश करेंगे तो आप नहीं कर पाएंगे। इससे निवासियों की गोपनीयता की रक्षा और गोपनीयता बनाए रखने के लिए बनाया गया है।

किसी भी भारत निवासी को किसी तीसरे पक्ष या किसी अन्य निवासी से संबंधित कोई व्यक्तिगत जानकारी प्प्रदान नहीं की जाएगी। आवेदक को कुछ मामलों में पहचान का अतिरिक्त सत्यापन प्रदान करने की भी आवश्यकता हो सकती है।

जरूरी सूचना:- अगर आप गरीबी रेखा से नीचे हैं तो उन लोगों के लिए आरटीआई जारी करने के बाद और जारी करने वाले प्राधिकरण के साथ बीपीएल कार्ड नंबर प्रदान करना आवश्यक होगा। और अगर जो भारतवासी बीपीएल श्रेणी में नहीं आते हैं और उन्हें आधार सेवा के लिए आरटीआई दाखिल करने के लिए ₹10 का आरटीआई शुल्क देना अनिवार्य है।

You may also Like :- Edistrict , Bhulekh or Hindi Diwas

Leave a Comment