Aadhar Card Download 2022 – सम्बन्धी जानकारी, योग्यता, नामांकन, आधार सम्बन्धी सेवाएं (आधार कार्ड डाउनलोड )

Aadhar Card Download 2022 – इस लेख में हमने आपको आधार कार्ड से संबंधित सभी जानकारी मुहैया कराई है। हमने आपको इस लेख में बताया है कि आधार कार्ड संबंधित योग्यता,  आधार कार्ड में किस तरह से आप नामांकन कर सकते हैं,  अगर आपने आधार कार्ड के लिए आवेदन कर रखा है तो आप उस का स्टेटस कैसे चेक करें। आधार कार्ड ऐप डाउनलोड या प्रिंट कैसे करवा सकते हैं। आधार कार्ड के संबंधित सेवाएं क्या है। आधार कार्ड को वेरीफाई कैसे करवाएं। और भी जानकारी आधार कार्ड  के विषय में हमने इस लेख में आपको विस्तार से बताइए।

हेलो दोस्तों आज हम बात करेंगे आधार कार्ड के बारे में जैसे की हम सब जानते हैं कि आधार कार्ड की उपयोगिता हिंदुस्तान में बहुत ही ज्यादा है। अगर आप बैंक में खाता खुलवाना चाहते हैं तो उसमें भी आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ेगी। आधार कार्ड पूरे भारत में मान्यता रखता है। अगर आपको आधार कार्ड बनवाना होगा तो आपको कुछ चीजों की जरूरत पड़ेगी आज हम इस पोस्ट में उस बारे में  विस्तार से आपको बताएंगे कृपया इस पोस्ट को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

इसलिए को इंग्लिश में पढ़ने के लिए यहां पर क्लिक करें।

आधार कार्ड संबंधित योग्यता क्या है

आधार कार्ड बनवाने के लिए कुछ योग्यता होनी चाहिए उन योग्यताओं को हमने नीचे रिक्तियों में लिख दिया है कृपया पढ़ ले

अगर आप 182 दिन तक देश में रह रहे हैं ( भारत)  तो आपको आधार कार्ड के लिए अप्लाई करने की इजाजत मिल जाती है  यह सिर्फ एनआरआई के लिए है
हर एक भारत का निवासी आधार कार्ड बनवा सकता है और उसके लिए अप्लाई करने के लिए योग्य माना जाता है।

आधार कार्ड के लिए नामांकन करने का तरीका क्या है

अगर आप आधार कार्ड के लिए नामांकन करने का सोच रहे हैं तो उसके लिए कुछ जानकारी चाहिए  होगी।

आप किसी भी ऑथराइज आधार नामांकन केंद्र या फिर स्थाई नामांकन केंद्र पर जा सकते हैं और अपना नामांकन कर सकते हैं। या फिर यूआईडीएआई  सरकारी वेबसाइट पर मौजूद आधार नामांकन केंद्र की एक अपडेट लिस्ट मिल जाएगी आप वहां पर जाकर भी नामांकन कर सकते हैं।  यूआईडीएआई वेबसाइट पर मौजूद आधार नामांकन केंद्र की लिस्ट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।

और जैसे कि हम जानते हैं हिंदुस्तान की जनसंख्या बहुत ज्यादा अधिक है इस वजह से नामांकन  प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए,  हिंदुस्तान सरकार (UIDAI)  ने 10,000 से भी ज्यादा पोस्ट ऑफिस और बैंक ब्रांच को स्थाई नामांकन केंद्र के रूप में अधिकार दिया है। ताकि लोग पोस्ट ऑफिस और बैंक ब्रांच में जाकर आधार कार्ड में नामांकन कर पाए इससे लोगों को सुविधा भी होगी और आसानी से लोग नामांकन कर पाएंगे।

आधार नामांकन प्रक्रिया का तरीका

आधार नामांकन करने के लिए आप इन तीन प्रक्रिया से गुजर सकते हैं

1.सबसे पहले तो आप अपने नजदीकी आधार नामांकन केंद्र का पता लगाएं
2.वहां पर आपको आवेदन फॉर्म मिल जाएगा उस फॉर्म को ध्यान पूर्वक भरे और मांगे गए दस्तावेजों को सबमिट करवाने
3.बायोमैट्रिक्स पूरा  करवाएं और एक्नॉलेजमेंट कलेक्ट कर लें

नामांकन करने के लिए आप से कुछ दस्तावेज मांगे जाएंगे अगर आपके पास वह दस्तावेज नहीं है तो आप दूसरी तरह से आवेदन कर पाएंगे उसके लिए यूआईडीएआई ने निम्नलिखित तरीके से नामांकन करने का इंतजाम किया है।

परिचायक आधारित आवेदन:– अगर कोई आवेदक आधार कार्ड बनवाना चाहता है पर उसके पास पहचान या पते का कोई वैद्य प्रमाण नहीं है या कोई दस्तावेज नहीं है तो एक रजिस्ट्रार द्वारा नियुक्त एक परिचायक,  उसकी नामांकन प्रक्रिया में सहयोग कर सकता है।  आधार नामांकन केंद्र के माध्यम से परिचायक से संपर्क किया जा सकता है। इसके लिए कोई भी आवेदन कर सकता है।

परिवार के  मुखिया के आधार पर आवेदन:- अगर आप आधार कार्ड के लिए नामांकन करना चाहते हैं तो आप परिवार के  मुखिया के साथ अपने संबंध को प्रमाणित करने वाले दस्तावेज सबमिट करा सकते हैं।  उसके बाद इन दस्तावेजों को चेक किया जाएगा और सब कुछ ठीक रहा तो सफल सत्यापन के बाद प्रोसेस कर दिया जाएगा इस तरह से आप अपना नामांकन करा सकते हैं।

ऑनलाइन आधार आवेदन का स्टेटस कैसे चेक करें

जो आवेदक ने आधार कार्ड के लिए नामांकन किया है और वह अपने आधार आवेदन का स्टेटस चेक करना चाहता है तो वह आधार कार्ड की सरकारी वेबसाइट  के माध्यम से अपने ऑनलाइन आधार  आवेदन को चेक कर सकता है। चेक करने के लिए आवेदक को यूआईडीएआई की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें उसके बाद आपको अपने नामांकन आईडी का उल्लेख करना होगा जो आवेदन सबमिट करने के बाद जारी किए गए एक्नॉलेजमेंट पर्ची पर मिला होगा।  उस आईडी को डालने के बाद आपको आपका स्टेटस दिख जाएगा।

आधार कार्ड को डाउनलोड और प्रिंट करने का  तरीका क्या है

जैसे की हम सबको मालूम है आधार कार्ड एक बहुत ही उपयोगी डॉक्यूमेंट है भारत वासियों के लिए आधार कार्ड हर जगह उपयोग होता है जैसे कि अगर आपको बैंक खाता खोलना हूं या फिर अपना पहचान ले पत्र बनवाना हो और भी कई तरह के दस्तावेजों में आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ती है। और इसके साथ साथ हम जानते हैं कि भारत की जनसंख्या बहुत ही ज्यादा है इसलिए लोगों को आधार कार्ड बनवाने में काफी समस्या आने लगी थी जिस प्रकार भारत सरकार ने आधार कार्ड बनवाने के लिए  आधार कार्ड बनवाने की प्रोसेस को सुलभ बना दिया है।  अब आप चाहे तो यूआईडीएआई  की सरकारी वेबसाइट पर जाकर अपने आधार कार्ड को डाउनलोड कर सकते हैं पीडीएफ फॉर्म में। इसको हम E-AADHAR  भी कहते हैं।

ई आधार को नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट में से किसी भी एक इस्तेमाल करके ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है

1.नामांकन आईटी (EID)
2.आधार नंबर
3.वर्चुअल आईडी (VID)

यूआईडीएआई वेबसाइट से अपने आधार को डाउनलोड और प्रिंट करने के लिए क्या करना होगा उसकी संपूर्ण जानकारी यहां दी गई है कृपया क्लिक कर ले

आधार संबंधित सेवाएं क्या-क्या है

यूआईडीएआई ने आधार प्रक्रियाओं और विशेषताओं से संबंधित तरह तरह की सेवाओं को प्रदान करने का अवसर दिया है। हमने इन सेवाओं को विस्तार पूर्वक नीचे समझाया है इस लेख में हमने हर तरह की जानकारी देने की कोशिश की है अगर आपको और भी कुछ जानना है सेवाओं के बारे में तो आप यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं। यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।

अपने आधार नंबर को पुनः प्राप्त करना

आपने आधार कार्ड बनवाया था और आपका आधार कार्ड किसी कारणवश खो गया है या मिल नहीं पा रहा है तो आप चिंता ना करें क्योंकि इसका समाधान भी यूआईडीएआई ने निकाल रखा है। आप चाहे तो अपना आधार कार्ड दोबारा से ले सकते हैं आपको कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होगा अपने आधार कार्ड को दोबारा पाने के लिए। नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके आप इलेक्ट्रॉनिक्स माध्यम के जरिए अपने आधार कार्ड,    ईआईडी (EID) या फिर भी  वीआईडी (VID) फिर से निकाल सकते हैं।

लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे कि अगर आप दोबारा से अपना आधार कार्ड निकालना चाहते हैं तो आपको अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर की जरूरत पड़ेगी जो रजिस्टर नंबर आपने अपना आधार कार्ड बनवाते वक्त दिया हो। क्योंकि उस रजिस्टर नंबर के जरिए ओटीपी के द्वारा आपको दोबारा से आधार कार्ड निकालना पड़ेगा।

वर्चुअल आईडी जेनरेट कर सकते हैं

पर हम आपको बताएंगे के वी आई डी यानी bit4id की शुरुआत की हुई थी। आधार कार्ड को हम ऑनलाइन माध्यम से भी बनवा सकते हैं तो इसके लिए हमें थोड़ी और सतर्कता और सुरक्षा की आवश्यकता थी इस वजह से भी आईडी की जरूरत आई। डेटा की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए और आधार कार्ड के तहत दी गई जानकारी को सुनिश्चित करने के लिए भी आईडी की जरूरत  बड़ी।  इसके लिए अलग-अलग तरह की सेवाओं के लिए आधार संबंधी जानकारी मांगने वाले मरचेंट्स और वेंडर्स को सीमित केवाईसी  तक पहुंचाने की सुविधा मिलती है।

आधार लिंकिंग का स्टेटस चेक करना

हिंदुस्तान सरकार के द्वारा अनेक योजनाओं और सरकारी सब्सिडी ओं का लाभ उठाने के लिए। सब्सिडी का पैसा पाने के लिए तथा उनका आवेदन करने के लिए आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ती है। इससे लाभ उठाने वालों में पारदर्शिता आती है और घोटाले होने का कम खतरा रहता है। लेकिन इसके लिए आधार कार्ड को अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना अनिवार्य होता है ताकि कोई भ्रष्टाचार ना हो पाए। आप अगर आधार लिंक करना चाहते हैं अपने बैंक अकाउंट से या फिर उसका ही स्टेटस चेक करना चाहते हैं तो हमने उसकी जानकारी नीचे दी है कृपया पढ़ ले

1.सबसे पहले ऑफिशियल आधिकारिक यूआईडीएआई वेबसाइट पर जाएं
2. वहां पर आपको   माई आधार पर जाना होगा
3. यहां पर आपको आधार सर्विस इस टाइप का चयन करना होगा
4. अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा
5. यहां आप अपना आधार  या वर्चुअल आईडी  और सिक्योरिटी कोड दर्ज करें
6. तब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आ जाएगा
7. उस ओटीपी को दर्ज करवा दें
8. ओटीपी दर्ज कराने के बाद आपकी स्क्रीन पर आधार लिंकिंग की मौजूदा स्थिति का पता लग जाएगा

आधार कार्ड के साथ रजिस्टर्ड ईमेल या मोबाइल को वेरीफाई करें

जब आपने आधार कार्ड बनवाया होगा तब आपसे ईमेल ऐड्रेस और मोबाइल नंबर मांगा होगा। इस ईमेल एड्रेस और मोबाइल नंबर पर आधार कार्ड से रिलेटेड सभी तरह की इंफॉर्मेशन भेजी जाएगी जैसे कि ओटीपी,  आधार कार्ड से संबंधित न्यूज़ और अपडेट्स।  जो नंबर आपने रजिस्टर्ड करने के लिए दिया होगा उसी नंबर पर नोटिफिकेशन आएगी। अगर आपको जानना है कि रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल एड्रेस को वेरीफाई करने की प्रक्रिया क्या है तो कृपया यहां पर क्लिक करें

ऑथेंटिकेशन संबंधी इतिहास की जांच करना

आप जब भी किसी भी उद्देश्य के लिए अपने आधार कार्ड से संबंधित जानकारी देते हैं तब तक इस जानकारी को एक्सेस करने वाली ऑथराइज यूजर एजेंसी ( ए यू ए)  का विवरण,  आधार के सिस्टम में दर्ज हो जाता है। आप अपने ऑथेंटिकेशन इतिहास की जांच कर सकते हैं जिसमें ए यू ए और उनके द्वारा एक्सेस की गई जानकारी सूची बंद रहती है
इस प्रक्रिया के कारण आप इस बात का सत्यापन कर सकते हैं क्योंकि आधार डाटा को किसने एक्सेस किया है यह सुविधा खास तौर पर उस समय काफी मददगार साबित होती है जब आप की जानकारी की सुरक्षा को मैनेज करने की बात आती है

आधार नंबर को वेरीफाई करना

आधार कार्ड को किसी कारणवश निष्क्रिय भी कर दिया जाता है। तो अगर आपको जानना है कि आपका आधार कार्ड वेरीफाई कैसे करें तो आप नीचे दिए गए प्रक्रिया उसके साथ जा सकते हैं इससे आप अपने आधार नंबर को वेरीफाई या सत्यापन किस तरह करें जान पाएंगे

1. सबसे पहले ही यूआईडीएआई वेबसाइट जो की सरकारी वेबसाइट है उस पर जाएं वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें
2. इसके साथ आपके सामने यूआईडीएआई कहां पर स्कूल जाएगा यहां पर आपको   माई आधार टैब पर क्लिक करना है
3. फिर एक नया पेज खुल जाएगा
4. इस पेज पर वेरीफाई आधार नंबर टैब पर क्लिक करें
5. फिर आपको अपना आधार नंबर और कैप्चा कोड दर्ज कराना होगा
6. स्क्रीन पर आप के आधार कार्ड की मौजूदा स्थिति दिखाई दे जाएगी इस प्रकार आप जान पाएंगे अपने आधार कार्ड का स्टेटस

आधार का ऑफलाइन वेरिफिकेशन कैसे करें

एक आधार कार्ड धारक होने के नाते आप सेवा या वेंडर को एक सुरक्षित और छेड़छाड़ रहित फॉर्मेट में पहचान और पता संबंधित जानकारी का प्रमाण शेयर कर सकते हैं।

आधार पेपरलेस ऑफलाइन E-Kyc किया जा सकता है

1. यूआईडीएआई वेबसाइट सरकारी वेबसाइट है सबसे पहले इस वेबसाइट पर जाएं जाने के लिए यहां क्लिक करें
2. आपके सामने होम पेज खुल जाएगा
3. होम पेज पर जाने के बाद माई सर्विसिस टैब पर क्लिक करें
4. आधार सर्विस इस टाइप के तहत आधार पर पलेस ऑफलाइन   ई-केवाईसी पर क्लिक करें
5. अब अपना आधार नंबर और सिक्योरिटी कोड दर्ज करा दे
6. आप इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा
7. उस ओटीपी को भी दर्ज करा दें
8. दर्ज करने के बाद उसका सफलतापूर्वक सत्यापन होने के बाद
9. एक डाउनलोड करने लायक एक्सएमएल फाइल उपलब्ध हो जाएगी
10. उसको डाउनलोड कर ले
11. इस तरह से आप आधार का ऑफलाइन वेरिफिकेशन कर पाएंगे

बायोमेट्रिक कॉल लॉक अनलॉक करना

जैसे की हम सबको मालूम है आधार कार्ड में जनसंख्या के साथ-साथ बायोमैट्रिक डाटा भी होता है जिसका इस्तेमाल तरह-तरह की सेवाओं का लाभ उठाते समय आपकी पहचान को प्रमाण में करने के लिए किया जाता है ताकि भ्रष्टाचार और धोखेबाजी ना हो। वेरिफिकेशन के लिए एक वेंडर या फिर मर्चेंट के साथ अपने आधार से संबंधित जानकारी शेयर करते समय, इस जानकारी का गलत इस्तेमाल करने की संभावना रहती है। यह डेटा की सुरक्षा को बनाए रखने के लिए यूआईडीएआई आधार कार्ड धारकों को अपनी बायोमेट्रिक जानकारी की एक्सेस को लॉक करने की इजाजत देता है। आप चाहे तो अपनी बायोमेट्रिक जानकारी को लॉक कर सकते हैं ताकि उसका कोई गलत उपयोग ना कर पाए। इसे कार्ड धारक की अनुमति पर ही अनलॉक किया जा सकता है।

बाल आधार क्या है

अगर आप 5 साल से कम उम्र के नाबालिक के लिए आधार कार्ड की जानकारी चाहते हैं या फिर आधार कार्ड जो कि 5 साल के कम उम्र के नाबालिक के लिए हो उसको हम बाल आधार कहते हैं उसके लिए हमने कुछ और जानकारी नीचे दी है कृपया ध्यानपूर्वक पढ़ें

बाल आधार कैसे बनवाएं

अगर आप अपने बच्चे के लिए आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आपको अपने बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के लिए माता-पिता का बायोमेट्रिक विवरण लिया जाएगा। जब आपका बच्चा 15 साल का हो जाएगा तब उसे एक सरकारी केंद्र में जाकर अपने बायोमैट्रिक डाटा को अपडेट करवाना होगा।

बाल आधार के लिए नामांकन करने के लिए नामांकन केंद्र में आवेदन फॉर्म और दस्तावेज जमा करते समय माता-पिता का आधार देना भी जरूरी होगा।

अगर आप अपने बच्चे के लिए बाल आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं तो उसमें आपको माता-पिता के आधार कार्ड की भी आवश्यकता पड़ेगी तो कृपया करके पहले अपना आधार कार्ड बनवा ले तब अपने बच्चे का आधार कार्ड के लिए अप्लाई करें।

आधार संबंधित संपूर्ण जानकारी

आधार कार्ड क्या है

आधार कार्ड भारतवर्ष का सबसे महत्वपूर्ण सरकारी दस्तावेज है जिसकी आवश्यकता हमें हर सरकारी काम और निजी काम में जरूरत पड़ती रहती है। आधार कार्ड भारतीय निवासियों के लिए बनाया गया है और यह सरकार द्वारा एक बार जारी किया जाने वाला एक अनोखा पहचान पत्र है।

इस आधार कार्ड में 12 अंकों वाला एक रेंडम नंबर है जिसमें व्यक्ति के बायोमेट्रिक और जनसंख्या डाटा का रिकॉर्ड रहता है जिस वजह से यह आधार कार्ड बहुत ही सटीक और इंटेलिजेंट है। आधार कार्ड के लिए आवेदन करना अपनी इच्छा पर निर्भर करता है और यह बिल्कुल मुफ्त है लेकिन इसकी जरूरत बहुत ज्यादा पड़ती है इसलिए हर एक इंसान को इस कार्ड को बनवा लेना चाहिए

आधार कार्ड 2016 में शुरुआत की गई थी जब यूनियन आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया  यानी कि यूआईडीएआई की स्थापना हुई थी।

सारे आधार कार्ड इजी के द्वारा जारी किए जाते हैं जिसमें आधार कार्ड का जनसंख्या और बायोमैट्रिक डाटा होता है ताकि नागरिकों को कुछ सरकारी योजनाओं में लाभ और सब्सिडी देने का एक अधिक सुरक्षित और पारदर्शी तरीका किया जा सके।

सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले दस्तावेज होने के कारण इसका इस्तेमाल आप अनेक जगह कर सकते हैं जैसे कि बैंक खाता खुलवाना हो लोन लेना हो या फिर सरकारी सब्सिडी के लिए आवेदन करना हो। और अगर आप अपने घर का परिचय पत्र का प्रमाण के रूप में भी इसको  उपयोग में ला सकते हैं।

आधार कार्ड में कौन सी जानकारियां होती हैं

1. बायोमेट्रिक जानकारी

वायरस स्कैन ( दोनों आंखों का)
फिंगरप्रिंट्स ( दसों उंगलियों का)
और फोटो

2 जनसंख्या जानकारी.

जन्मतिथि तथा उम्र
पता
नाम
ई आईडी – (EID) –  नामांकन नंबर
बारकोड

आधार नामांकन केंद्र के बारे में जानकारी

अगर आप चाहे तो यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर नामांकन केंद्रों के साथ-साथ स्थाई नामांकन केंद्र की जानकारी भी ले सकते हैं। जिसमें शहर और राज्य के आधार पर मौजूद नामांकन केंद्र की सूची रहती है यहां मौजूदा आधार नामांकन केंद्र ओं का पता लगाने के तरीके के बारे में विस्तार गाइड भी दी है कृपया उसका इसको भी पढ़ ले गए पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

आधार विवरणों को अपडेट करने का  ऑनलाइन तरीका

यदि आपके आधार कार्ड में कुछ गलतियां हो चुकी हैं आपका फोटो गलत आ गया है या फिर आपके नाम में कुछ गड़बड़ हो चुकी है तो आप चाहे तो उस चीज को सही करवा सकते हैं उसके लिए आपको यूआईडीएआई वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन माध्यम के जरिए ठीक करवाना होगा। जनसंख्या डाटा के साथ-साथ बायोमेट्रिक जानकारी को भी अपडेट किया जा सकता है अगर आप चाहे तो उसके लिए आपको ऑनलाइन अप्लाई करना होगा तथा उसके बाद आपको नामांकन केंद्रों में जाना होगा।

अपने मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से जोड़ने का तरीका

जब आपने आधार कार्ड बनवाया होगा तो आपको  अपना रजिस्टर्ड नंबर भी दिया होगा आप चाहे तो रजिस्टर्ड नंबर को चेंज भी करवा सकते हैं। अपने मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से जोड़ना जरूरी है क्योंकि आधार सेवा का लाभ उठाने और अपने आधार कार्ड में शामिल विवरणों में बदलाव अपडेट करने के लिए आपको मोबाइल नंबर की जरूरत पड़ेगी जिस पर ओटीपी आता है। ओटीपी के जरिए आप कुछ भी अपडेट करवा सकते हैं।

अपने मोबाइल नंबर को अपने आधार कार्ड से जोड़ने के लिए आपको एक स्थाई आधार केंद्र में जाकर अपने कार्ड में अपने मोबाइल नंबर को जोड़ने का आवेदन करना होगा इसमें कुछ समय लगेगा लेकिन आपका आधार कार्ड में आपका नंबर अपडेट हो जाएगा।

ई आधार

यह धार आप के आधार कार्ड की एक इलेक्ट्रॉनिक कॉपी है और इसका इस्तेमाल अपने कार्ड की एक फिजिकल कॉपी के बदले में किया जा सकता है आसान भाषा में बताएं तो यह आप के आधार कार्ड की डिजिटल कॉपी होगी यह आपको आधार कार्ड बनवाने में  सरलता और सुविधा देती है। आधार को हर जगह स्वीकार किया जाता है और इसे यूआईडीएआई वेबसाइट से डाउनलोड भी किया जा सकता है।

आधार एक पीडीएफ फॉर्मेट में सेव रहता है और पासवर्ड द्वारा सुरक्षित भी हो सकता है। आप चाहे तो अपने आप ही आधार की कॉपी भी डाउनलोड कर सकते हैं जिसमें आपका आधार नंबर छिपा रहेगा

एम आधार

आधार कार्ड की जितनी भी सेवाएं हैं उनको हर जगह और ज्यादा आसान बनाने के लिए,  यूआईडीएआई नेएम आधार को चालू किया था जो कि एक एंड्राइड एप्लीकेशन है इसको आप अपने मोबाइल फोन पर डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप में उपभोक्ताओं को आधार संबंधित जानकारी एवं डिजिटल रूप में मिलती रहती हैं और इसका इस्तेमाल कहीं भी बड़ी आसानी से किया जा सकता है।

उपयोगकर्ता अपने आप से अधिक से अधिक तेरी प्रोफाइल जोड़ सकते हैं और तरह-तरह के काम कर सकते हैं जैसे अपने बायोमैट्रिक्स को लॉक करना और आधार के लिए अपने ईकेवाईसी का एक्सेस करना। एम आधार एप के बारे में व्यापक गाइड हमने दी है जिसमें अपने मोबाइल नंबर को जोड़ने का तरीका भी बताया गया है उस गाइड को देखने के लिए कृपया यहां क्लिक करें

आधार नामांकन केंद्र

अगर आप ऑनलाइन आधार कार्ड बनवाने में असमर्थ हैं और आपको नहीं मालूम कि आप कैसे बनवाएं तो आप चाहे तो आधार नामांकन केंद्र पर जाकर भी अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं। आप के आधार कार्ड में कुछ गड़बड़ी है और आप चाहते हैं कि उसको अपडेट किया जाए या ठीक करवा सकते हो तो आप आधार नामांकन केंद्र पर जाकर अपडेट भी करवा पाएंगे। आधार नामांकन  केंद्र पूरे भारत में हैं जिसमें कुछ राज्य हैं जैसे कि मुंबई दिल्ली हैदराबाद बेंगलुरु इत्यादि  इन सभी शहरों में आधार नामांकन केंद्र स्थित है।

आवेदकों को यूआईडीएआई वेबसाइट में अपने  निवास क्षेत्र के आसपास सक्रिय केंद्र का पता चल जाएगा तो कृपया करके आप यूआईडीएआई वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

आधार कार्ड से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न उत्तर

प्रश्न. क्या ई आधार और आधार कार्ड एक ही चीज है
उत्तर. जी बिल्कुल,  आधार कार्ड और आधार कुछ हद तक एक समान है। इन दोनों में सिर्फ एक ही अंतर है आधार कार्ड यूआईडीएआई द्वारा डाक के माध्यम से आवेदक को भेजा जाने वाला एक दस्तावेज है लेकिन ई आधार एक डिजिटल वर्जन आधार कार्ड है इसको आप यूआईडीएआई वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं पीडीएफ फॉर्म में।

प्रश्न. आधार कार्ड कब तक माननीय रहता है
उत्तर. आधार कार्ड जिंदगी भर माननीय रहेगा। अगर आपका आधार कार्ड खो भी जाए तो भी आप नया आधार कार्ड बनवा सकते हैं उसमें आपका मोबाइल नंबर जो आपने रजिस्ट्रेशन करते वक्त दिया होगा उसकी जरूरत पड़ेगी आप चाहे तो अपने आधार कार्ड को अपडेट भी करा सकते हैं अगर आप के आधार कार्ड में कुछ गलत छप के आ गया हो

प्रश्न. मेरा पहला आधार आवेदन अस्वीकार कर दिया गया क्या मैं फिर से आवेदन कर सकता हूं
उत्तर. एक आधा हर आवेदन को आमतौर पर तकनीकी कारणों की वजह से यह स्वीकार किया जाता है आपको अपने आधार के लिए आवेदन करने की अनुमति है आप चाहे तो नामांकन केंद्र पर जाकर भी अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं।

प्रश्न. मेरा आधार लेटर गुम हो गया है क्या मैं इसे फिर से प्रिंट करवा सकता हूं
उत्तर. जी बिल्कुल  यूआईडीएआई,  के द्वारा आप लेटर को कितनी बार भी प्रिंट करवा सकते हैं। उसके लिए आपको यूआईडीएआई वेबसाइट के द्वारा बनाई गई एम आधार एप के माध्यम से इसके लिए आवेदन कर सकते हैं और ₹50 की एक मामूली फीस के बदले आपको अपने आधार लेटर कब रिप्रिंट मिल सकता है।